Sunday, 24 May 2015

इतिहास गवाह है,लडकी की विदाई के समय

इतिहास गवाह है,
लडकी की विदाई के समय
इतना दु:ख उसके माँ-बाप को
भी नही होता,
जितना दु:ख अडोस-पडोस के
लडकों को होता है..........

No comments:

Post a Comment