Friday, 8 July 2016

Oh womaniya 💃💃

इंटरवल के बाद अँधेरे में अपनी सीट की ओर लौटती महिला ने कोने वाली सीट पर बैठे व्यक्ति से पुछा,

" भाई साहब, क्या बाहर जाते समय मैंने गलती से आपका पैर कुचल दिया था?"

दर्शक (गुस्से में) - "हाँ, कुचला था।अब क्या माफ़ी मांग रही हैं?"

महिला - "माफ़ी वाफी नहीं भैया, इसका मतलब मेरी सीट इसी लाइन में है।"

😆😆😆😆😆😆😆😆😆

Oh womaniya 💃💃

No comments:

Post a Comment